Recent Posts

/*
*/

Latest Posts

Post Top Ad

Quote

जब आप जिंदगी के किसी मोड़ पर लगातार असफल हो रहे हो तो आपके पास दो रास्ते हैं-
पहला रास्ता यह है, कि आप यहीं रुक जाओ और आने वाली पीढ़ी को यहाँ रुकने के बहाने गिनाओ !
दूसरा यह है, कि आप लगातार प्रयास करते रहो और इतने आगे बढ़ जाओ और खुद किसी का प्रेरणास्रोत बन जाओ|

Popular Posts

Friday, May 11, 2018

जिस्मानी मोहब्बत !Erotica

Declaimer- Strictly 18+ content, read at your own risk.

रूह की मौजूदगी क्या कर पायेगी,
जिस्मों की सनसनी जब महफ़िल जमायेगी।

हैं तैयार दो बदन रुख़सत की शिरकत में,
हवस तौर से उतरेगी मोहब्बत की कसरत में।

गुनाह माफ़ कर देना अब इनसे तौबा ना होगी,
जिस्मानी हसरतें अब हौव्वा ना होगी।

लगाकर जाम होठों पर, शौक से मयकशी होगी,
फ़ेंक कर लिबास कोने में खूब बेकदरी होगी।

जिस्म ऐसे चिपक जाए, जैसे गोंद से जोड़ दिए हों,
बदन ऐसे झुके होंगे, जैसे कमर से मोड़ दिए हों।

रात खौफ़ में होगी कहीं वजूद ना हिल जाए,
आवाज़ों के डर से कहीं दिन ना निकल जाए।

पलँग चरचराहट में आज टूट ना जाये,
दोनों जी भर के खेलेंगे, कुछ भी छूट ना जाये।



#ShubhankarThinks

Image Credit - Pixabay

Note- यह मेरी अब तक कि कविताओं से बिल्कुल अलग लिखा है, लिखने के पीछे कोई खास वजह नहीं थी। आप अपनी राय कॉमेंट में बता सकते हैं। धन्यवाद।

2 comments:

  1. kyaa baat....bahut dinon baad behtarin lekhan...👌👌👌

    ReplyDelete
  2. shubhankarthinksMay 12, 2018 at 5:35 AM

    Bhut dhanyawad apka sir apki comment hmesha prernadayak hoti hai
    Likhta hu but thoda km 2 liner vgrh se tasalli de dete hai dil ko ab kya kre kavita likhne ke liye achha khasa waqt chahiye.
    Baki apki kavitayen wakai chhaa rhi hai wordpress par

    ReplyDelete

Post Top Ad