Recent Posts

/*
*/

Latest Posts

Post Top Ad

Quote

जब आप जिंदगी के किसी मोड़ पर लगातार असफल हो रहे हो तो आपके पास दो रास्ते हैं-
पहला रास्ता यह है, कि आप यहीं रुक जाओ और आने वाली पीढ़ी को यहाँ रुकने के बहाने गिनाओ !
दूसरा यह है, कि आप लगातार प्रयास करते रहो और इतने आगे बढ़ जाओ और खुद किसी का प्रेरणास्रोत बन जाओ|

Popular Posts

Tuesday, December 5, 2017

Thought of the day

दूसरों का उपहास बनाकर
खुद को ऊँचा दिखाने की
कोशिश में लगे लोग!
हर एक उपहास के बाद
एक पायदान नीचे
खिसक जाते हैं|




 



style="display:block; text-align:center;"
data-ad-layout="in-article"
data-ad-format="fluid"
data-ad-client="ca-pub-5231674881305671"
data-ad-slot="2629391441">


12 comments:

  1. bilkul uttam vichar.........kisi ka uphaas kar kabhi khud ko achchha nahi banaa sakte.....han kabhi kabhi dhan dualat ke aage log jubaan band jarur rakhte hain....magar dil men sirf waise logon ke liye nafrat hi rahta hai.

    ReplyDelete
  2. सत प्रतिसत सत्य।

    ReplyDelete
  3. Bilkul satya kaha hai aapne bhut khub👏👏👏

    ReplyDelete
  4. dhanyvaad harshita apne pdha aur sarahna ki

    ReplyDelete
  5. bhut dhanyvaad sir ki apne pdha

    ReplyDelete
  6. sir apki pratikriyayen hmesha mujhe aur likhne ke liye prerit krti hai! dhanyvad sir
    mai kshma chahunga apki rachnayen pratidin nhi pdh pata mgr smay milte hi mei ek sath pdhunga , ab iske liye kshma kr dena

    ReplyDelete
  7. Are are ....esmen kshamaa ki kyaa baat hai.......kisi ko jab bhi samay milta hai apne marji se man pasand vishay padhta hai.....ye to mere liye khushi ki baat hai...hamare post aap pasand karte hain.........sukriya apka.

    ReplyDelete
  8. बिल्कुल सत्य है। किसी की खिल्ली उड़ाना

    ReplyDelete
  9. बिल्कुल सत्य है। किसी की खिल्ली उड़ाना स्वयं के स्तर को नीचे गिरना ही है..इसी से हमारे सोच संस्कार और मनोभाव का पता चल जाता है..बहुत सटीक कथन है।।

    ReplyDelete
  10. dhanyvaad apne vichar dene ke liye

    ReplyDelete
  11. dhanyvaad apka sir

    ReplyDelete

Post Top Ad