Recent Posts

/*
*/

Latest Posts

Post Top Ad

Quote

जब आप जिंदगी के किसी मोड़ पर लगातार असफल हो रहे हो तो आपके पास दो रास्ते हैं-
पहला रास्ता यह है, कि आप यहीं रुक जाओ और आने वाली पीढ़ी को यहाँ रुकने के बहाने गिनाओ !
दूसरा यह है, कि आप लगातार प्रयास करते रहो और इतने आगे बढ़ जाओ और खुद किसी का प्रेरणास्रोत बन जाओ|

Popular Posts

Wednesday, December 6, 2017

प्रेम और हिमपात

आज वातावरण में मिठास सी है,
शीत पवन में भी तेरी सुगंध घुली है!



मेरे प्रेम की लहरें और भी तीव्र हो उठी हैं,
हिमपात की कठिन परिस्थिति में,
प्रत्येक शीत अनुभव मुझे,
तुम्हारे श्वांस से निकले उष्ण वायु के
सुखद अनुभव की याद दिलाता है|



तुम पता नहीं कहाँ हो?
लगातार ये शीत वायु मुझे स्पर्श करके,
तुम्हारे प्रेम की महत्ता का ज्ञान करा रही है|


winter

Pic Credit- Google

नमस्कार कैसे हैं आप सभी लोग, यह कविता मूल रूप से Bansi Joshi ने गुजराती में लिखी है, उसके बाद उनके बताये आंकड़ों के आधार पर मैंने इस कविता को हिंदी में पिरोया है| आप बंसी जोशी जी को यहां फॉलो कर सकते हैं|You can follow her on YourQuote too .


 

style="display:block; text-align:center;"
data-ad-layout="in-article"
data-ad-format="fluid"
data-ad-client="ca-pub-5231674881305671"
data-ad-slot="2629391441">




#ShubhankarThinks

4 comments:

  1. प्रेम और हिमपात बहुत ही सुंदर शीर्षक है
    और कविता हिमपात के बाद खिली हुई धूप सी मोहक है...

    ReplyDelete
  2. aha itni sundar pratikriya ke baad to aur bhi likhne ka mn krega vaise prem mera pasandida vishay nhi mgr kbhi kbhi likhta hu auron ko dekhkr

    ReplyDelete
  3. dhanyvad sir

    ReplyDelete

Post Top Ad