Recent Posts

/*
*/

Latest Posts

Post Top Ad

Quote

जब आप जिंदगी के किसी मोड़ पर लगातार असफल हो रहे हो तो आपके पास दो रास्ते हैं-
पहला रास्ता यह है, कि आप यहीं रुक जाओ और आने वाली पीढ़ी को यहाँ रुकने के बहाने गिनाओ !
दूसरा यह है, कि आप लगातार प्रयास करते रहो और इतने आगे बढ़ जाओ और खुद किसी का प्रेरणास्रोत बन जाओ|

Friday, March 17, 2017

नुमाइशें

ये रंग रोगन रूप यौवन ,

चमक दमक और जवानी 

खेल है सिर्फ दस साल का 

फिर दाद ,खाज , खुजली 

जोड़,पीठ ,गर्दन दर्द बीमारी

यही होगी हर एक की कहानी !
ये खिलता सा यौवन ,

मुरझा सा जायेगा 

चमकता हुआ ये चेहरा 

   धूल    खायेगा !
आज तुम कोई चाँद हो शहर का 

कल तुम्हारी जगह लेने कोई और चाँद आयेगा ,

ये नुमाइशों के सिलसिले जमाने में 

तारीख दर तारीख़ चलेंगे ,

कुछ रसिक लुत्फ़ उठाएंगे नुमाइश का 

फिर वो भी अपने घर निकल लेंगे !
बाद में जब कभी नुमाइश से ऊब जाओ 

तो तहज़ीब वाले मुहल्ले में आकर तो देखना ,

इस झूठ वाले मक़ान के उस फ़रेबी झरोखे से पर्दा हटाकर देखना !
वो खूब दूर तलक गरीब खाने नज़र आएंगे 

तब जाकर तुम्हे रिश्ते नाते ,तौर तरीके सब अच्छी तरह समझ आएंगे ,

और फिर तुम्हे तुम्हारी औकात ,रुतबा 

दोनों बिलकुल साफ साफ दिख जायेंगे !
©Confused Thoughts

23 comments:

  1. जिंदगी का कठोर सत्य दिखा दिया आपने कुछ ही पन्क्तियो में -
    और फिर तुम्हे तुम्हारी औकात ,रुतबा

    दोनों बिलकुल साफ साफ दिख जायेंगे !

    ReplyDelete
  2. आपने मेरे प्रयास को समझ लिया
    यही इशारा था मेरा इस कविता के माध्यम से
    धन्यवाद !🙏🙏

    ReplyDelete
  3. स्वागत है. 😊😊

    ReplyDelete
  4. जीवन एक रंगमंच है, हम उसके कलाकार आपकी कविता उस कलाकार की हस्ती को बेहतरीन ढंग से उकेरती है।

    ReplyDelete
  5. Bahut khoob !!

    ReplyDelete
  6. Kya baat hai... bahut khoob likha hai. :)

    ReplyDelete
  7. जिंदगी की कड़वी सच्चाई। आज जिस्म की नुमाइश ने जो औकात दिखाई।
    हरेक पे होता है उमर का नूर, परहर कोई बेपर्दा नहीं होता

    ReplyDelete
  8. Bhut achi baat likhi apne
    Meri Kavita pdhne ke liye dhanyavaad

    ReplyDelete
  9. चमक दमक और जवानी 
    खेल है सिर्फ दस साल का ....👌

    ReplyDelete

Post Top Ad