Recent Posts

/*
*/

Latest Posts

Post Top Ad

Quote

जब आप जिंदगी के किसी मोड़ पर लगातार असफल हो रहे हो तो आपके पास दो रास्ते हैं-
पहला रास्ता यह है, कि आप यहीं रुक जाओ और आने वाली पीढ़ी को यहाँ रुकने के बहाने गिनाओ !
दूसरा यह है, कि आप लगातार प्रयास करते रहो और इतने आगे बढ़ जाओ और खुद किसी का प्रेरणास्रोत बन जाओ|

Popular Posts

Monday, January 2, 2017

अंत्येष्टि

ढोल नगाडों से स्वागत हुआ था ,

मीठे भोगों से आवाभगत किया था!

मां ने  सारा सुख परित्याग किया था,

जब उस नन्हे से जीव ने जन्म लिया था ||

फिर गली मौहल्ले  नापकर चला वो ,


उठता सम्हलता कभी दौडता चला वो !

कभी सुख  तो कभी दुख में चला वो ,

जिन्दगी के पथ पर बढता चला वो !

कंधों पर लिए जिम्मेदारी का बोझा ,

अपने जीवन की गाडी को हांकता चला वो||






कभी बारिश में भीगा तो कभी तूफानों लडा था,

कभी खेतों की खातिर तपती दुपहरी में खडा था!

कभी औरों की मोल ली लडाई में लडा था ,

कभी अपनों की खातिर चट्टान सा खडा था||


सारी जिन्दगी में क्या क्या रंग देखे थे उसने ,


कुदरत के बनाये सब खेल खेले थे उसने !

सब दुख दर्द खुद ठेले थे उसने ,

क्योंकि सारे मौसम देखे थे उसने ||


समय का चक्र तेजी से गुजरता गया था,


वो जिन्दगी की लडाई लडता गया था!

अब चलने से कुछ लडखडा गया था,

जाने क्यों वो अब उखड सा गया था||






फिर घिर गया वो बीमारी के घेरे में,

वक्त गुजरता अब हकीम के खेमे में!

कुछ अपने लगे थे देखभाली में उसके,

कुछ अपने लगे उसे औषधी देने में||

अब राम नाम वो पुकारने लगा था,


सत्य को वो पहचानने लगा था!

मृत्युं की घडी अब निकट है मेरे,

इस सार्थक सत्य को  मानने लगा था||






कुछ भेजे थे यम ने दूत पृथ्वी पर,

जो आये बडे मदमस्त होकर!

 खींचे प्राण कुछ कठोर होकर,

फिर चल दिये वो परलोक को !

उस प्राणी के प्राणों को लेकर ||


अब शरीर धरती पर अचेत पडा है,


कुछ अन्दर ही अन्दर अकडा पडा है!

अब लोगों का जमावाडा लगा पडा है,

कोई शरीर के निकट तो कोई दूर खडा है||




शरीर को रख लकडियों के घर में ,


निकली ध्वनि फिर एक स्वर में !


राम नाम सत्य है , सत्य बोलो गत्य है||

14 comments:

  1. Good one...
    Puri life ko dikha dia ek hi poem me!!!

    ReplyDelete
  2. Thanks !
    😋😋 Haan mujhe jaldi rhti h n to sb kuch km words . M pura krk nikal leta hu

    ReplyDelete
  3. Marmik .. hum had mas ke putle hain mitti mein mil jane hain chah badi hai sau gaj pane ki bar do gaj mein mil jane hain.. khoob bahut sunder lekhan ..

    ReplyDelete
  4. Bhut khoob ! 👌👌
    Do gaj m mil Jane hai
    ...

    Thanks for reading my small poetry

    ReplyDelete
  5. Its all my pleasure :) bahut sunder likhte hai ap

    ReplyDelete
  6. कद से अधिक तारीफ करने के लिए फिर से धन्यवाद

    ReplyDelete
  7. Aap wakai achha likhte hain aur politeness apko accha insaan banati hai 😊

    ReplyDelete
  8. Aur ap logon ki प्रतिक्रिया मुझे और लिखने के लिए प्रेरित करती है और kisi b writer ka polite hona jruri

    ReplyDelete
  9. Politeness is good very true ; ye mein bhi kehti hun humesha

    ReplyDelete
  10. सब आप सभी बडों का आशीर्वाद ही है वरना कुछ नहीं है दुनिया में

    ReplyDelete
  11. कुछ अलग कहना चाह रही पर शब्द नही है पास

    ReplyDelete
  12. कभी कभी भावनायें सब प्रदर्शित कर देती हैं
    शब्द तो सिर्फ माध्यम मात्र होते हैं 😊
    धन्यवाद मैम

    ReplyDelete

Post Top Ad